Breaking News

रंगड़ों के काटने से बेटी की मौत के बाद अब मां ने भी तोड़ा दम

हिमाचल के मंडी जिले के उपमंडल करसोग में खनयोल बगड़ा के स्यानजली गांव में रंगड़ों के काटने से तीन साल की बेटी की मौत के बाद आईजीएमसी में उपचाराधीन 25 वर्षीय मां कौशल्या देवी ने भी शनिवार को दम तोड़ दिया है। महिला अपने पीछे 9 वर्षीय मासूम लितेश को छोड़ गई है। वह पिछले 24 घंटों से जिंदगी और मौत से जूझ रही थी। 


hamir news

कौशल्या की सास रोशनी देवी की हालत गंभीर बनी हुई है। गुरुवार सायं साढ़े पांच बजे कौशल्या अपनी तीन साल की बेटी को लेकर खेतों से घास काटने गई थी। उसकी सास भी साथ थी। जैसे ही सास बहू ने घास काटना शुरू किया, उसी वक्त अचानक ही घास के बीच से रंगड़ोंने हमला कर दिया। एक साथ भारी संख्या में रंगड़ों के हमला करने से इन्हें संभलने का मौका नहीं मिला।

घटना का शिकार हुई बच्ची का पिता घर पर नहीं था। वह सेब सीजन के लिए किन्नौर गया था। ऐसे में गांव वालों ने पीठ पर उठाकर सभी को गाड़ी तक पहुंचाया। इसके बाद इन्हें उपचार के लिए सिविल अस्पताल करसोग लाया गया। इस दौरान बच्ची की अस्पताल में मौत हो गई और दोनों महिलाओं को प्राथमिक उपचार देने के बाद आईजीएमसी शिमला रेफर कर दिया। 

करसोग थाना के कार्यकारी थाना प्रभारी एएसआई बलवीर सिंह का कहना है कि रंगड़ों के काटने का मामला आया था। इसमें बेटी के बाद उसकी मां कौशल्या की भी मौत हो गई है। एक अन्य घायल महिला का आईजीएमसी में उपचार चल रहा है।

No comments