Breaking News

हिमाचल के 1000 छात्र एक साथ सीखेंगे रोबोट बनाना, बनेगा विश्व कीर्तिमान

हिमाचल के छात्रों को 19 अक्तूबर को रोबोट बनाना और चलाना सिखाया जाएगा। पहली बार हिमाचल में विश्व कीर्तिमान स्थापित होगा। आधुनिक पब्लिक स्कूल धर्मशाला में विश्व कीर्तिमान स्थापित करने के लिए कई स्कूलों के करीब 1000 छात्र छात्राएं ट्रेनिंग प्रोगाम में भाग लेंगे। रोबोटिक्स को लेकर धर्मशाला में ऑलइंडिया काउंसिल फॉर रोबोटिक्सएंड ऑटोमेशन (आइक्रा) ट्रेनिंग प्रोगाम करेगी। 
दरअसल आइक्रा रोबोटिक्सऔर ऑटोमेशन क्षेत्र में मानकोंऔर नीतियों को निर्धारित करतीहै।परिषद 19अक्तूबर कोविश्व के सबसे बड़े रोबोटिक्सप्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजनभारत में करेगी।इसप्रशिक्षण कार्यक्रम में40,000छात्रोंको विभिन्न शहरों में एक हीतिथि और समय पर प्रशिक्षण देनेका कीर्तिमान स्थापित कियाजाएगा।


हिमाचल में विभिन्नस्कूलों के छात्र इस अंतर्राष्ट्रीयआयोजन का हिस्सा बनेंगे। करीब 1000छात्रछात्राएंआधुनिक पब्लिक स्कूल धर्मशालामें विश्व कीर्तिमान स्थापितकरने के लिए भाग लेंगे। 

ऑलइंडिया काउंसिल फॉर रोबोटिक्सएंड ऑटोमेशन के प्रबंध निदेशक (हिमाचल) आशीष भगोरिया नेबताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रमछात्रों के लिए बहुत लाभकारीहोगा। प्रशिक्षण के माध्यमसे छात्र रोबोटिक्स और आर्टिफिशियलइंटेलिजेंस के बारे में जानेंगे। बाधा अवरोधक रोबोट को असेंबलकरने और चलाने में छात्र कौशल प्राप्त करेंगे। 

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में पंजीकृत होगा कीर्तिमान

सबसे बड़े रोबोटिक्स प्रशिक्षण पर बनने वाला यह विश्व कीर्तिमान गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया के साथ पंजीकृत किया जाएगा। व्यावहारिक प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए आइक्रा हेड ऑफिस द्वारा रोबोट और ट्रेनर उपलब्ध कराए जाएंगे। 19 अक्तूबर को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे कार्यक्रम होगा। 

रोबोटिक्स में यह काम है आइक्रा का
 
ऑल इंडिया काउंसिलफॉर रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन कामुख्य कार्यालय नई दिल्लीमें स्थित है। अब उसने रोबोटिक्सऔर ऑटोमेशन के विकास के लिएएक पारिस्थितिकी तंत्र बनानेके लिए हिमाचल में अपनापरिचालन शुरू कर दिया है। 

परिषद सरकार, उद्योगऔर संस्थानों के साथ कार्यकरके यह सुनिश्चित करने काप्रयास करती है कि छात्रोंको भविष्य की तकनीक पर अनुभवऔर प्रशिक्षण प्राप्त करनेके लिए स्कूलों और कॉलेजोंमें रोबोट लैब पर काम करने काअवसर प्राप्त हो, उन्हेंविशेषज्ञों के माध्यम सेनवीनतम प्रशिक्षण मिले औरउन्हें चैंपियनशिप,प्रतियोगिताओं,लीगजैसे कार्यक्रमों में अपनीप्रतिभा दिखाने के लिए मंचप्राप्त हो।

No comments