Breaking News

समूचे प्रदेश में परीक्षा रद्द,पुलिस भर्ती में दबोचे छह ‘मुन्नाभाई’

हिमाचल प्रदेश पुलिस में सिपाही पद की भर्ती के लिए रविवार को परौर पर आयोजित लिखित परीक्षा में फर्जी परीक्षार्थी बनकर आए एक गिरोह के छह मुन्नाभाइयों को दबोचा गया है। दरअसल पुलिस में सिपाही के 265 पदों के लिए जिला कांगड़ा से 11558 उम्मीदवारों ने शारीरिक दक्षता परीक्षा उत्तीर्ण की थी। नौकरी पाने की लालसा में इनमें से कुछ युवाओं ने परौर में आयोजित होने वाली लिखित परीक्षा के लिए अपनी जगह बाहरी राज्यों के युवक फर्जी परीक्षार्थी बनाकर भेजे थे।

 इसके अलावा हमीरपुर में भी एक व्यक्ति दबोचा गया था। उसके बाद पुलिस विभाग ने सारे प्रदेश में परीक्षा रद्द कर दी है। इसके साथ ही एक नकलची भी दबोचा गया है। सूत्रों के अनुसार पुलिस विभाग के खुफिया विंग को इस गिरोह की सूचना पहले ही मिल गई थी। खुफिया विभाग ने ऑर्नरी हैड कांस्टेबल विजय कुमार व कांस्टेबल कर्ण सिंह को इस मिशन की जिम्मेदारी सौंपी। मसले को गंभीरता से लेते हुए खुफिया विभाग पूरी सूझबूझ के साथ पूरी तैयारी कर परीक्षा केंद्र में पहुंचा। जिला पुलिस युवाओं को प्रवेश द्वार पर चैकिंग कर भेज रही थी, जिसमें पुलिस नकल से संबंधित सामग्री के बिना प्रवेश करवा रही थी।

इसके बाद परीक्षा केंद्र से पहले ही खुफिया विभाग शक के आधार पर युवाओं से पूछताछ कर रहा था। इस दौरान पहला मुन्नाभाई तब पकड़ा गया, जब उसे अपने गांव के आसपास के क्षेत्र का कुछ भी पता नहीं था। इसी तरह खुफिया पुलिस ने शक के आधार पर ही एक के बाद एक चार शातिरों को पकड़ लिया। उधर, जिला पुलिस ने भी दो फर्जी परीक्षार्थियों को दबोचा। सूत्रों के अनुसार एक शातिर खुफिया पुलिस के प्रश्न का उत्तर नहीं दे पाया। उससे पूछा गया कि उसने ग्राउंड टेस्ट कहां दिया था।

युवक ने एकदम उत्तर दिया कि धर्मशाला में। इसके बाद पुलिस ने पूछा कि आपकी दौड़ सिंथेटिक ट्रैक पर हुई थी या घास वाले मैदान पर, युवक इसी प्रश्न में फंस गया। ये सभी मुन्नाभाई प्रदेश के पड़ोसी राज्यों से संबंध रखते हैं, जिनमें से दो शातिर उत्तर प्रदेश व बाकी चार हरियाणा राज्य के विभिन्न जिलों से संबंध रखते हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भवारना थाने में मामला दर्ज कर लिया है।

सूत्रों के अनुसार पुलिस व खुफिया विभाग ने शक के आधार पर करीब 500 लोगों से पूछताछ की थी। परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड की चैकिंग के दौरान पाया गया कि रोल नंबर 24293 विनीत कुमार के स्थान पर प्रशांत कुमार पुत्र शिवकुमार निवासी हाथरस यूपी, रोल नंबर आईडी नंबर/ आईडी नंबर 15514 कमल के स्थान पर कुलदीप पुत्र रोशन लाल निवासी चोसाला, जिला कैथल हरियाणा, रोल नंबर आईडी नंबर 48885 अखिल काटल के स्थान पर अनुराग पुत्र पवन गांव गुड़ान जिला रोहतक तथा रोल नंबर आईडी नंबर 77429 मनीष चौधरी के स्थान पर मनदीप पुत्र रामेर निवासी शांति नगर कुरुक्षेत्र हरियाणा लिखित परीक्षा देने का प्रयास कर रहे थे

इसके अलावा हरियाणा का सुभाष व यूपी का रघुबीर सिंह भी दबोचे गए हैं। फिलहाल इन दोनों के रोल नंबर नहीं मिल पाए हैं कि वे किस परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा देने पहुंचे थे।  इन सभी मुन्नाभाइयों पर भवारना थाने में आईपीसी की धारा 419, 420 में मामला दर्ज किया गया है। इनके अलावा जिला कांगड़ा से संबंध रखने वाला रुस्तम अली ब्लूटुथ के साथ नकल करते पाया गया है।

No comments