Breaking News

स्कूल स्टोर करेंगे बारिश का पानी

प्रदेश सरकार ने राज्य के प्रत्येक सरकारी स्कूल में वर्षा जल संग्रहण का लक्ष्य रखा है। यह बात ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशु एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने शनिवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला समूरकलां में एनएसएस की प्रथम चरण की वार्षिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। इस बैठक में 101 स्कूलों के प्रधानाचार्य व कार्यक्रम अधिकारी शामिल हुए, 


जिनमें कांगड़ा के 20, हमीरपुर के 22 तथा ऊना के 59 स्कूल शामिल हैं। बैठक में वीरेंद्र कंवर ने बेहतर जल प्रबंधन की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक नए भारत का निर्माण करने का संकल्प लिया है, जहां सबके लिए घर, रसोई गैस व पीने का पानी होगा। उन्होंने कहा कि हिमालय क्षेत्र में पानी की कमी है, लेकिन वर्षा जल संग्रहण से पानी की समस्या से निपटा जा सकता है।

 एनएसएस के राज्य समन्वयक दिलीप ठाकुर ने बताया कि हिमाचल के 790 स्कूलों में राष्ट्रीय सेवा योजना चलाई जा रही है और इस योजना के तहत लगभग 70 हजार वॉलंटियर्स हैं। वार्षिक बैठक में एनएसएस के वर्ष भर चलने वाली गतिविधियों का खाका खींचा जाता है। इस अवसर पर डाइट प्रिंसिपल देवेंद्र चौहान, कुटलैहड़ मंडल भाजपा के अध्यक्ष मनोहर लाल, महामंत्री मास्टर तरसेम लाल, पंचायत उपप्रधान संसार चंद सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

वंदे मातरम प्रतियोगिता के लिए एक लाख

मंत्री वीरेंद्र कंवर ने ऊना जिला में वंदे मातरम प्रतियोगिता के लिए एक लाख रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि यह प्रतियोगिता स्कूलों में प्राथमिक, माध्यमिक व वरिष्ठ माध्यमिक श्रेणियों में ब्लॉक व जिला स्तर पर आयोजित की जाएगी। प्रतियोगिता के विजेताओं को इनाम भी प्रदान किए जाएंगे। साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि ऊना सुपर 50 के लिए मेधावी छात्रों का चयन कर लिया गया है। इसके लिए 75 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल करने वाले छात्रों की प्रतियोगी परीक्षा करवाई गई।

No comments